MP में स्वास्थ्य विभाग कर्मचारी क्यो हुए सर्वाधिक संक्रमित जानिये, यह है वजह

सरकार ने अपनी जांच में यह पाया है कि मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री के रूप में शिवराज सिंह चौहान के कार्यभार संभालने से कुछ हफ्ते पहले इंदौर के कुछ इलाकों में मौतों में महत्वपूर्ण वृद्धि हुई थी।सूत्रों ने कहा कि किसी को भी शायद उस समय वायरस के प्रसार के बारे में कोई जानकारी नहीं थी।

कोरोना से मध्य प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग भी बीमार है। स्वास्थ्य विभाग के कई अधिकारी और कर्मचारी संक्रमण का शिकार है। आंतरिक जांच में पता चला है कि स्वास्थ्य महकमे में वायरस डिप्टी डायरेक्टर रैंक के एक अधिकारी के माध्यम से फैला, जो एक वोल्वो बस में इंदौर से भोपाल आए थे। इस जांच रिपोर्ट में आईएएस अधिकारियों पल्लवी जैन गोविल और जे विजय कुमार को क्लीन चिट दे दी गई।

स्वास्थ्य विभाग की जांच में पता चला है कि वायरस का संक्रमण उप स्वास्थ्य निदेशक के कारण फैला, जो इंदौर से ऐसे समय में भोपाल आए थे, जब वायरस इंदौर में फैल चुका था और जब टेस्ट के लिए इंदौर में एक भी नमूना नहीं लिया गया था। इस जांच रिपोर्ट में पल्लवी जैन गोविल और जे विजय कुमार को क्लीन चिट दे दिया गया है. इन दोनों अफसरों पर अपने परिवार की ट्रैवल हिस्ट्री छिपाने का आरोप था।

सरकार ने अपनी जांच में यह भी पाया है कि मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री के रूप में शिवराज सिंह चौहान के कार्यभार संभालने से कुछ हफ्ते पहले इंदौर के कुछ इलाकों में मौतों में महत्वपूर्ण वृद्धि हुई थी। सूत्रों ने कहा कि किसी को भी शायद उस समय वायरस के प्रसार के बारे में कोई जानकारी नहीं थी और लोग सामान्य सर्दी- खांसी का इलाज कर रहे थे। डॉक्टरों ने इन लक्षणों के लिए दवाएं भी दीं, लेकिन वायरस तेजी से फैल रहा था।

इंदौर में संक्रमण की तेज रफ्तार के कारण स्वास्थ्य विभाग पर कई गंभीर आरोप लग चुके हैं।मध्य प्रदेश में वायरस फैलाने के लिए 100 से अधिक अधिकारियों और कर्मचारियों को जिम्मेदार माना जा रहा है, जो कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। इन अधिकारियों और कर्मचारियों में से अधिकतर फ्रंट लाइन वॉरियर्स नहीं थे और सचिवालय में बैठे थे, जहां कोरोना वायरस के प्रसार का मुकाबला करने के लिए बैठकें आयोजित की जा रही थीं।

मध्य प्रदेश में अब तक 2090 लोगों में कोरोना की पुष्टि हो चुकी है, जिनमें से अकेले 1207 इंदौर के हैं।राज्य भर में हुई कुल 103 मौतों में से अकेले इंदौर में 60 लोग कोरोना की चपेट में आकर जान गंवा चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *