भारत मे होगा बड़े पैमाने पर टेस्टिंग किट का उत्पादन, साथ ही कि जायगी बड़े पैमाने पर टेस्टिंग

चीन से आई रैपिड एंटी-बॉडी टेस्ट किट फेल होने के बाद अब भारत में ही इसका उत्पादन शुरू होगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने मंगलवार को बताया कि हम मई तक भारत में आरटी-पीसीआर और एंटीबॉडी टेस्ट किट बनाना शुरू कर देंगे। इनके लिए हमारी तैयारी अंतिम चरण में हैं। आईसीएमआर से मंजूरी मिलने के बाद हम उत्पादन शुरू करेंगे। इनकी मदद से हमने 31 मई से रोजाना एक लाख टेस्ट करने का लक्ष्य रखा है। अभी देश में 30 से 35 हजार प्रतिदिन टेस्टिंग हो रही है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कई जगहों पर संक्रमण काबू में है। देश के 80 जिलों में 7 दिन से और 47 जिलों में 14 दिन से एक भी कोरोना का केस सामने नहीं आया है। वहीं, 39 जिलों में पिछले 21 दिनों से कोई केस दर्ज नहीं हुआ। इसी तरह17 जिलों में पिछले 28 दिनों से एक भी पॉजिटिव नहीं मिला। उन्होंने बताया कि पिछले 14 दिनों में केस दोगुने होने की दर 8.7 दिन है, जबकि 7 दिन से यह 10.2 दिन है। 

डॉ. हर्षवर्धन ने दिल्ली में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए उपराज्यपाल अनिल बैजल, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और संबंधित विभागों के शीर्ष अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी की। मीटिंग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई। बैठक में तीनों नगर निगमों के प्रमुख, सभी जिलों के डीएम और दिल्ली के सभी जिलों के डीसीपी व सरकारी अस्पतालों के प्रमुख शामिल रहे। मीटिंग के बाद डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि हमें कोविड-19 से बेहतर तरीके से लड़ने के लिए दिल्ली में कोरोना संक्रमण के कारण सील क्षेत्रों के दायरे को और बढ़ाने की आवश्यकता है। 

बैठक में डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि दिल्ली में 100 हॉटस्पॉट हो गए हैं। इन्हें जल्द से जल्द कम करना होगा। उन्होंने ने कहा कि दिल्ली में 4.11 प्रतिशत हेल्थ वर्कर संक्रमित पाए गए हैं। इनमें 11 पैरामेडिक्स, 26 नर्स, 24 फील्ड वर्कर और 33 डॉक्टर शामिल हैं। यह चिंता का विषय है। अभी दिल्ली में 100 के करीब हॉटस्पॉट हैं। इस नंबर को कम करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *