बड़ी घोषणा: एमपी के लोगों को वापस लाने के लिए रेलवे चलाएगा 31 ट्रेनें, इन 8 राज्यों से वापस आएंगे लोग

भोपाल. मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को एक अहम जानकारी दी। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि मध्यप्रदेश के जो लोग दूसरे राज्यों में फंसे हैं उन्हें वापस लाने के लिए 31 स्पेशल ट्रेने चलाने का प्रस्ताव रेल मंत्रालय को भेजा गया है। उन्होंने बताया कि ये ट्रेनें देश के 8 राज्यों से मध्यप्रदेश के लोगों को वापस लेकर आएंगी। सीएम कहा कि विभिन्‍न प्रदेशों से हमारे मजदूरों को लाने के लिए कुल 31 ट्रेन का प्‍लान रेल मंत्रालय को भिजवाया गया है। शीघ्र ही हमारे मजदूर ट्रेनों से मध्‍य प्रदेश आएंगे।

किसी से नहीं लिया जाएगा किराया मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि इस प्रकार की सूचना आई हैं कि नासिक से आने वाले कुछ मजदूरों से वहां किराया लिया गया। यह यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी मरीज से किराया न लिया जाए। अपर मुख्‍य सचिव आईसीपी केसरी ने बताया कि विभिन्‍न प्रदेशों से हमारे मजदूर लाने के लिए कुल 31 ट्रेन का प्‍लान रेल मंत्रालय को भेजवाया गया है।

कॉमर्स मेंटोर विद्यार्थियों के लिए वरदान👎🏻

https://youtu.be/UG9D2uD8jbY

किन राज्यों में चलेंगी ट्रेनें अपर मुख्‍य सचिव आईसीपी केसरी ने बताया कि जिन 31 ट्रेन का प्‍लान रेल मंत्रालय को भेजवाया गया है। इनमें से 22 ट्रेन महाराष्‍ट्र से, 2 गुजरात से, 1 दिल्‍ली से, 2 गोवा से और 4 ट्रेनें अन्‍य प्रदेशों से से मध्यप्रदेश के नागरिक और मजदूरों को लेकर वापस मध्‍यप्रदेश आएंगी।

केवल ये लोग पहुंच सकते हैं रेलवे स्टेशन वहीं, मध्य रेलवे के सीपीआरओ ने एक दिन पहले ही बताया था कि स्पेशल ट्रेन उन व्यक्तियों के लिए चलाई गई हैं, जिन्हें राज्य सरकार द्वारा चिह्नित और पंजीकृत किया गया है। केवल उन यात्रियों को सफर करने की अनुमति होगी जिन्हें राज्य सरकार के अधिकारी स्टेशनों पर लाएंगे। अन्य किसी भी व्यक्ति को रेलवे स्टेशनों पर आने की अनुमति नहीं।

जरूरी होगा मास्क पहनना दूसरे राज्यों से अपने राज्यों में आने वाले लोगों को विशेष ध्य़ान भी देना होगा। हर यात्री के लिए मास्क जरूरी होगा। ट्रेन में यात्रा करने के दौरान हर यात्री को मास्क पहनना जरूरी है। यह राज्य सरकार की जिम्मेदारी है कि जो यात्री ट्रेन में सफर कर रहे हैं उनके लिए खाने का उचित प्रबंध किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *