मध्यप्रदेश- कंप्यूटर बाबा का पोलिटिकल ड्रामा शुरू अबकी बार यूपी तक रमाई धूनी

विश्व के कल्याण ,भारत कल्याण और नर्मदा की रक्षा के लिए जीवन समर्पित करने की घोषणा करने वाले कंप्यूटर बाबा ने कोरोनावायरस को खत्म करने के लिए कोई अनुष्ठान नहीं किया था ओर पालघर में साधुओं की मॉब लिंचिंग पर भी चुप रहे परंतु जैसे ही उत्तर प्रदेश में साधुओं की हत्या का मामला सामने आया “कंप्यूटर बाबा का ड्रामा’ शुरू हो गया।

कंप्यूटर बाबा आज इंदौर के गोमटगिरी स्थित अपने आश्रम पर एक शिष्यो के साथ धूनी रमा कर बैठ गए। कुछ फोटो/ वीडियो और बयान के साथ ड्रामे का पहला एपिसोड खत्म हो गया। कंप्यूटर बाबा ने बताया कि वह उत्तर प्रदेश में साधुओं की हत्या के खिलाफ अनशन पर हैं परंतु यह नहीं बताया कि उनका अनशन कितने दिन चलेगा।

बुधवार सुबह 9 बजे धूप में जलते कंडों के बीच बैठकर शुरू हुआ यह अनशन शाम 4 बजे तक चला। याद दिला दें कि इससे पहले जब भी भारत में किसी भी प्रकार की महामारी का प्रकोप हुआ, साधू सन्यासियों के आश्रम में विशेष यज्ञ अनुष्ठानों का आयोजन निश्चित रूप से किया गया था परंतु यह पहली बार है जब मध्य प्रदेश की राजनीति में सक्रिय साधु (कंप्यूटर बाबा) अपने आश्रमों में दो थे परंतु कोरोनावायरस को खत्म करने के लिए अपनी दिव्य शक्तियों का उपयोग नहीं कर रहे थे। परंतु वह अब योगी सरकार को घेरने के लिये तैयार हो गए है।

इससे पहले भी कंप्यूटर बाबा कई बार मध्यप्रदेश और देश की राजनीति में सुर्खियो में रहे हैं। कंप्यूटर बाबा को शिवराज सहित कमलनाथ सरकार में राज्य मंत्री का दर्जा प्राप्त कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *